Krishna Janmashtami 2022:  कब है जन्माष्टमी, यहां से  जानें सही तारीख

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार. भगवान कृष्ण का जन्म आधी रात को हुआ था, इस वजह से कुछ लोग 18 अगस्त को जन्माष्टमी का व्रत रखेंगे.

शास्त्रों के अनुसार 19 अगस्त को जन्माष्टमी का व्रत और श्री कृष्ण जयंती भी मनाई जाएगी.

जन्माष्टमी पर पूजा करने का शुभ मुहूर्त 18 अगस्त की मध्यरात्रि 12:20 से 01:05 बजे तक है

जन्माष्टमी का व्रत 19 अगस्त की रात 10 बजकर 59 मिनट के बाद ही खोलना चाहिए

वैष्णव और स्मार्त दोनों तिथियों के अनुसार जन्माष्टमी का उत्सव मनाते हैं

कृष्ण जन्माष्टमी का मुहूर्त| अष्टमी पहले ही दिन आधी रात को विद्यमान हो तो जन्माष्टमी व्रत पहले दिन किया जाता है.

 दिन देश के समस्त मंदिरों का श्रृंगार किया जाता है.

श्री कृष्णावतार के उपलक्ष्य में झाकियाँ सजाई जाती हैं.

भगवान श्रीकृष्ण का श्रृंगार करके झूला सजा के उन्हें झूला झुलाया जाता है.